TATA की TCS पर लगा चोरी का आरोप, देना होगा 1751 करोड रुपए का जुर्माना

देश की सबसे बड़ी IT कंपनी टाटा की TCS को तगड़ा झटका लग गया है दरअसल TCS पर चोरी का इल्जाम लगा है आपको यकीन नहीं होगा लेकिन यही सच है TCS पर एक बड़ा आरोप लगा है कि TCS ने अपने एक सॉफ्टवेयर को डेवलप करने में एक कंपीटीटर के सोर्स कोड की चोरी की है जिस कारण से अब IT कंपनी TCS को मोटा जुर्माना भरना पड़ सकता है 

TCS पर ऐसा आरोप लगाया किसने

अमेरिका की एक कंपनी DXC ने TCS पर यह आरोप लगाया है लेकिन TCS पर केस कंप्यूटर साइंस कॉरपोरेशन यानी CSC ने फाइल किया था इस अमेरिकी IT कंपनी का आरोप है कि TCS ने अपने सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म TCS Bank को डेवलप करने के लिए उसके सोर्स कोड का इस्तेमाल किया और इस मामले में अमेरिका के टैक्सास कोर्ट ने tcs से DXC Tech को 210 मिलियन डॉलर यानी करीबन 1751 करोड़ का भुगतान करने को कहा है अमेरिका की जूरी (Jury) का मानना है कि भारतीय it कंपनी ने वास्तव में ट्रेड सीक्रेट को एक्सेस किया है वैसे आपको बता दें यह मामला आज का नहीं है बल्कि करीब 5 साल पुराना है 

TCS और ट्रांस अमेरिका के बीच 2018 में 10 साल के लिए एक डील हुई थी यह डील करीब 200 करोड़ डॉलर की थी लेकिन खराब आर्थिक परिस्थितियों के चलते डील को जून 2023 में रद्द कर दिया गया अब समस्या यह है कि इस डील के ही चलते TCS ने 2018 में ट्रांस अमेरिका के 2200 कर्मचारियों को काम पर रखा था इन कर्मचारियों को काम सौंपा गया था एक Bank प्लेटफार्म के डेवलपमेंट का लेकिन DXC के अनुसार इन कर्मचारियों को एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाने में दिक्कतें आ रही थी जो एक खास बीमा के मामले में रेट ऑफ रिटर्न कैलकुलेट कर सके 

यहां से शुरू होता है असली मामला

DXC ने ट्रांस अमेरिका को अपने सॉफ्टवेयर का लाइसेंस दिया हुआ था जब TCS के काम पर रखे गए कर्मचारियों को दिक्कत आई तो उन्होंने पाया कि DXC का विंटेज सॉफ्टवेयर यह काम आसानी से कर रहा है उसके बाद उन्होंने विंटेज के सोर्स कोड को कॉपी करा और उसका इस्तेमाल TCS वाले सॉफ्टवेयर में कर लिया और इसी मुद्दे के चलते DXC ने इस संबंध में 2019 में TCS के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया. DXC ने मुकदमे के साथ ही TCS के संबंधित कर्मचारियों के ईमेल के डीटेल्स भी कोर्ट को सौंप दिए जिससे मामला और पुख्ता हो गया 

TCS पीछे हटने को तैयार नहीं है

TCS का कहना है कि वे जूरी के फैसले से असहमत है TCS ने बयान जारी कर कहा है कि मामला कोर्ट के द्वारा ही तय होगा कोर्ट ने दोनों पक्षों से अपनी बातें रखने के लिए कहा है TCS का इरादा मुकदमे को अब आगे खींचने का है TCS ने कहा है कि चूंकि मामला भी न्याय के लिए विचाराधीन है ऐसे में वे इस मुद्दे पर आगे कोई टिप्पणी नहीं करेंगे अब देखना दिलचस्प रहेगा कि क्या TCS को यह भारी भरकम जुर्माना चुकाना होगा या फिर TCS इस मामले में अपने पक्ष को मजबूत कर सकेगी

Leave a Comment