Navratri : इस दिन से नवरात्रि शुरू जाने कलश स्थापना टाइमिंग, मां दुर्गा के वाहन और बहुत कुछ

Navratri : हिंदुओं के कुछ प्रमुख त्योहारों में से एक नवरात्रि बहुत ही जल्द आने वाली है जैसे-जैसे समय नजदीक आता जा रहा है लोगों के बीच खुशी बढ़ती जा रही है बाजारों में भीड़ लगना शुरू हो चुका है लोगों ने नवरात्रि की तैयारी शुरू कर दिय है नवरात्रि का पर्व मां दुर्गा को समर्पित है नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है मान्यता के अनुसार जो भी भक्त मां आदिशक्ति की नवरात्रि में विधि विधान से पूजा करता है मां हमेशा ही उन पर कृपा बनाए रखती है आईए जानते हैं इस वर्ष नवरात्रि का त्यौहार कब से मनाया जाएगा, साथ ही जानेंगे कलश स्थापना मुहूर्त, और मां दुर्गा के वाहन के बारे में 

नवरात्रि कब से शुरू है | Navratri kab se shuru hoga

जैसे कि आप जानते हैं शारदीय नवरात्रि की शुरुआत प्रतिपदा तिथि के साथ होती है ऐसे में इस वर्ष प्रतिपदा तिथि 14 अक्टूबर 2023 को रात 11 बजकर 24 मिनट से प्रारंभ होगी और 16 अक्टूबर 2023 को सुबह 12 बजकर 32 मिनट पर समाप्त होगी, ऐसे में नवरात्रि का पहला दिन 15 अक्टूबर को ही मनाया जाएगा |

नवरात्रि कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त | navratri kalash sthapna ka shubh muhurat

नवरात्रि के पहले दिन कलश स्थापना की जाती है ऐसे में 15 अक्टूबर को ही कलश स्थापना की जाएगी, कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त 15 अक्टूबर को सुबह 11:44 से दोपहर 12:30 तक रहेगा | ऐसे में आपके पास कुल 46 मिनट होगा इस समय अंतराल में आप कलश स्थापना कर सकते हैं साथ ही विधि-विधान से मां आदिशक्ति का उपासना करें 

WhatsApp – JOIN NOW

Telegram – JOIN NOW

इस वर्ष नवरात्रि पर मां का वाहन क्या है | दुर्गा मां किस पर सवार होकर आ रही है

इस वर्ष नवरात्रि में मां के आगमन का वाहन हाथी है जबकि मां दुर्गा मुर्गा पर सवार होकर जाएगी ,  नवरात्रि और दुर्गा पूजा में अंतर जान हो जाएंगे हैरान पढ़ने के लिए  मुझे दवाएं

नवरात्रि में मां दुर्गा के आने और जाने का वाहन कैसे तय होता है | Navratri mein maa durga ke aane aur jaane ka vahan kaise taee hota hai

वैसे तो मां आदिशक्ति का वाहन सिंह है लेकिन हर वर्ष देवी दुर्गा अपने भक्तों से मिलने धरती पर अलग-अलग वाहन पर सवार होकर आती है, जैसे कि इस वर्ष हाथी पर, देवी दुर्गा के अलग-अलग वाहन पर सवार होकर आने से देश और जनता पर इसका अलग-अलग प्रभाव होता है देवी का आगमन किस वाहन पर हो रहा है यह दोनों के आधार पर तय किया जाता है 

[table id=7 /]

[table id=8 /]

सनातन धर्म के जड़ को समझने के लिए और इस से जुड़े हर एक अपडेट को जननी के लिए आप हमारे व्हाट्सएप ग्रुप और टेलीग्राम चैनल को जरूर ज्वाइन कर दीजिए 

WhatsApp – JOIN NOW

Telegram – JOIN NOW

 

 

Leave a Comment

Exit mobile version