गिरिडीह में डीलर की मनमानी से परेशान ग्रामीणों ने प्रबंधक को बनाया बंधक तो मिला दो महीने का राशन, जाने पूरा मामला

पिछले कई महीनो से गिरिडीह के अलग-अलग गांव और प्रखंडों में राशन को लेकर कार्ड धारकों में आक्रोश है किसी को पिछले 3 महीने से राशन नहीं मिला तो कहीं पिछले 6 महीने से राशन नहीं दिया गया है और इस समस्या का समाधान के लिए कार्ड धारक 17 अक्टूबर से आंदोलन कर रहे थे आंदोलन के बाद भी समस्या का समाधान न निकलने पर परेशान ग्रामीणों ने गोदाम प्रबंधक को बंधक बना लिया 

मनमानी से परेशान ग्रामीणों ने गोदाम प्रबंधक को बनाया बंधक

पीरटांड प्रखंड के अरबेका गांव के कार्ड धारकों का कहना है कि उन्हें पिछले 3 महीने से राशन नहीं दिया गया है और वह इसी को लेकर आंदोलन कर रहे हैं इसी आंदोलन के बीच मामला की जांच करने पहुंचे प्रखंड के पीडीएस गोदाम प्रबंधक कृष्णा नीलम को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा, ग्रामीणों ने गोदाम प्रबंधक और कम्प्यूटर सहायक राजेश कुमार को गांव में ही बैठा लिया. ग्रामीणों ने कहा कि जब तक अनाज नहीं दिया जाएगा तब तक गोदाम प्रबंधक और कम्प्यूटर सहायक राजेश कुमार को नहीं छोड़ा जाएगा इस मामला की जानकारी मिलते ही गोदाम के संवेदक संजय राम गांव पहुंचे जहां कई घंटे तक ग्रामीणों को मनाने के बाद गोदाम प्रबंधक और कम्प्यूटर सहायक को छुड़ा लिया गया| ग्रामीणों का कहना है कि वह इस बात की शिकायत छोटे से बड़े अधिकारी तक कर चुके हैं लेकिन इसका कोई समाधान नहीं निकला और इसके बाद ही इस कदम को उठाया गया 

डीलर ने क्या कहा 

इस पूरे मामले में डीलर का कहना है कि उन्हें अगस्त महीने से ही काम राशन मिला है तो वह राशन कहां से देंगे | वही अधिकारी इस पूरे मामले की जांच कर रहे हैं और ग्रामीणों को बकाया राशन देने का आश्वासन दिया है 

आंदोलन के बाद कार्ड धारकों को 2 महीने का राशन मिल 

बगोदर पश्चिमी पंचायत के घाघरा कसियाडीह के कार्डधारियों को बड़ी सफलता मिली है वह पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे थे आंदोलन के बाद उन्हें 2 महीने का बकाया राशन दिया गया आपको बता दें कि बगोदर पश्चिमी पंचायत के घाघरा कसियाडीह के कार्ड धारकों को पिछले 6 महीने से राशन नहीं मिला था वह इस बात की शिकायत छोटे से बड़े अधिकारियों तक कर चुके थे समस्या का समाधान न होने पर उन्होंने आंदोलन किया इसके बाद उन्हें 2 महीने का बकाया राशन दिया गया है  बकाया राशन मिलने पर ग्रामीण खुश हैं 

Leave a Comment