Ekadashi 2024: मार्च में कब-कब मनाई जाएगी एकादशी? जानिए शुभ मुहूर्त और इसका धार्मिक महत्व

एकादशी वर्ष के प्रमुख व्रतों में से एक है यह दिन श्री हरि की पूजा के लिए समर्पित है धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन का उपवास सभी व्रतों में सबसे श्रेष्ठ माना जाता है यही कारण है कि भक्त इस दिन भगवान विष्णु के लिए कठोर उपवास का पालन करते हैं यह व्रत सूर्य उदय से शुरू होता है और अगले दिन यानी कि द्वादशी पर समाप्त हो जाता है यह तिथि महीने में दो बार आती है जिसका अपना एक खास महत्व है तो आइए शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष की एकादशी कब पड़ रही है उसके बारे में आपको बताते हैं 

मार्च में एकादशी कब है (March mai Ekadashi kab hai)

मार्च में पड़ने वाले एकादशी तिथि विद्या एकादशी कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि की शुरुआत 6 मार्च 2024 सुबह 6:30 से शुरू होगी और इसका समापन 7 मार्च 2024 सुबह 4 पर होगा वहीं इसके पारण का समय 7 मार्च 2024 दोपहर 1.9 से शुरू होगा और 3:31 तक चलेगा आमलकी एकादशी शुक्ल पक्ष एकादशी की शुरुआत 20 मार्च 204 को दोपहर 12:2 से शुरू होगा और एकादशी का समापन 21 मार्च 2024 को 2:2 पर होगा वहीं इसका पारण का समय 21 मार्च 2024 दोपहर 1:7 से 332 तक है अब आपको बताते हैं कि एकादशी उपवास का महत्व क्या होता है 

एकादशी उपवास का महत्व क्या है 

हिंदुओं में एकादशी का बड़ा धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व है इस दिन भगवान श्री हरि विष्णु की पूजा होती है सभी वैष्णव इस दिन का व्रत रखते हैं और मंत्रों का जाप करके भगवान विष्णु की पूजा करते हैं जो जातक एकादशी के दिन श्री हरि की पूजा करते हैं उन्हें जन्म और मृत्यु के चक्र से मुक्ति मिलती है साथ ही भगवान विष्णु अपने भक्तों के सभी पापों और कष्टों को दूर करते हैं और अपने साथ यानी कि बैकुंठ धाम में स्थान देते हैं

Leave a Comment