अगर हनुमान चालीसा के शक्ति देखना चाहते हैं तो,सुबह उठकर ऐसे पढ़ ले हनुमान चालीसा और देखें चमत्कार

श्रीराम ने हनुमान जी को कलियुग के अंत तक धरती पर ही रहने का आदेश दिया है हनुमान जी अमर हैं और धरती पर ही हैं वह अपने भक्तों और साधकों पर सदैव कृपालू रहते हैं और उनकी हर इच्छा पूरी करते हैं हनुमान जी की कृपा से ही तुलसीदास जी को भगवान राम के दर्शन हुए थे हनुमान जी के बारे में यह भी कहा जाता है कि जहां कहीं भी राम कथा होती है हनुमान जी वहां किसी ना किसी रूप में जरूर मौजूद होते हैं हनुमान जी की महिमा और भक्त हितकारी प्रभाव को देखते हुए तुलसीदास जी ने हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए हनुमान चालीसा लिखी है इस चालीसा का नियमित पाठ बहुत ही सरल और आसान है लेकिन इसके लाभ है चमत्कारी आइए देखते हैं 

सुबह उठकर ऐसे पढ़ ले हनुमान चालीसा और देखें चमत्कार

पहला फायदा बुरी आत्माओं भूत-प्रेत को भगाएं : हनुमान जी महावीर हैं अतिबलशाली हैं और बुरी आत्माओं भूत-प्रेत आदि सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा को नष्ट कर उसे भी मुक्ति प्रदान करने वाले हैं अगर किसी डरावनी जगह पर जाएं और किसी बुरी आत्मा की अनुभूति हो तो हनुमान चालीसा पढ़ने मात्र से आसपास के भूत-प्रेत दूर भाग जाते हैं वह हर बुरी आत्माओं का नाश करके लोगों को उससे मुक्ति दिलाते हैं जिन लोगों को रात में डर लगता है या फिर डरावने विचार मन में आते रहते हैं उनमें रोज हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए. 

दूसरा फायदा शनि देव की ढैया और साढ़ेसाती का प्रभाव कम करें : हनुमान चालीसा पढ़ कर आप शनि देव को खुश कर सकते है और साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव कम कर सकते हैं असल में एक बार हनुमान जी ने शनि देव की रक्षा की थी और फिर शनि देव ने खुश होकर यह बोला था कि वह किसी भी हनुमान भक्तों का कोई नुकसान नहीं करेंगे और जो हनुमान जी की भक्ति करेगा उसकी शनि की वक्र दृष्टि में भी ज्यादा हानि नहीं होगी.

तीसरा फायदा राहु के दुष्प्रभाव से मिलेगी मुक्ति : बहुत से लोगों की कुंडली में राहु ग्रह कुछ दुष्प्रभाव डालता है और मनुष्य के जीवन को कठिनाइयों और उतार-चढ़ाव से भर देता है ऐसे में नित्य प्रतिदिन या अपनी श्रद्धा अनुसार हनुमान चालीसा का पाठ और हनुमान भक्ति करने से राहु के दुष्प्रभाव से मुक्ति मिलती है 

चौथा फायदा रोग और दुखों से छुटकारा : नासे रोग हरे सब पीरा जपत निरंतर हनुमत बल वीरा हनुमान चालीसा के इस दोहे में यह बताया गया है कि जो भी हनुमान चालीसा का पाठ करता है वह सभी प्रकार के रोग और दुखों से छुटकारा पाता है लेकिन भक्ति भी सच्चे मन से की जानी चाहिए.

पांचवा फायदा हनुमान चालीसा पढ़ने से कॉन्फिडेंस यानि कि आत्मविश्वास बढ़ता है :  बहुत से हनुमान चालीसा का पाठ करने वाले लोगों ने इस बात की पुष्टि की है और हनुमान चालीसा पढ़ने के बाद अपने आत्मविश्वास को बढ़ा हुआ पाया है अगर आपको भी हनुमान चालीसा पढ़ने से कोई फायदा हुआ है तो कमेंट करके जरूर बताएं 

हनुमान चालीसा एक ऐसी कृति है जो हनुमान जी के माध्यम से व्यक्ति को उसके अंदर विद्यमान गुणों का बोध कराती है इसके पाठ और मनन करने से बल बुद्धि जागृत होती है हनुमान चालीसा का पाठ करने से व्यक्ति खुद अपनी शक्ति भक्ति और कर्तव्यों का आकलन कर सकता है. हनुमान चालीसा पढ़ने से दिमाग तेज होता है याददाश्त मजबूत होती है और कंसंट्रेशन पावर भी बढ़ता है इस कारण बच्चों को और विद्यार्थियों को इसका पाठ करके इसके लाभ से अपनी बुद्धि का विकास शुरू करते हैं जिसका असर बच्चों में अवश्य देखने को मिलेगा दोस्तों कभी-कभी ऐसा होता है कि हमारे बहुत प्रयास करने के बावजूद हमारे बहुत से काम अटक जाते हैं और हम हमेशा अपनी किस्मत को कोसते हैं हनुमान चालीसा का पाठ करने से मनुष्य को सभी प्रकार के कामों में सफलता मिलने लगती है क्योंकि हनुमान चालीसा के पाठ से तन और मन में पॉजिटिव एनर्जी आ जाती है आजकल लोगों को बहुत Stress रहता है हर काम की टेंशन इतनी टेंशन रहती है कि रात में चैन की नींद भी नहीं आती ऐसे में हनुमान चालीसा का पाठ निश्चित ही मानसिक शांति दिलाएगा और इस stress को कम करेगा.

आर्थिक परेशानी में करें हनुमान चालीसा का पाठ 

हनुमान चालीसा में कहा गया है कि हनुमान जी अष्ट सिद्धि और नवनिधि के दाता हैं जो व्यक्ति नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करता है उसकी हर मनोकामना हनुमान जी पूरी करते हैं चाहे वह धन एकता ही क्यों न हो जब कभी भी आपको आर्थिक संकट का सामना करना पड़े मन में हनुमान जी का ध्यान करके हनुमान चालीसा का पाठ करना शुरू कर दीजिए.

हनुमान चालीसा के पाठ से शारीरिक बल में बढ़ोतरी होती है इसी कारणवश हर अखाड़े में या जिम में महावीर हनुमान की मूर्ति या फोटो जरूर होती है शारीरिक व्यायाम करने वाले और बॉडी बिल्डिंग का शौक रखने वाले सभी लोगों के लिए हनुमान जी इष्टदेव और इंस्पिरेशन है ऐसे में हनुमान चालीसा का पाठ शारीरिक बल और क्षमता को बढ़ाता है.

हनुमान चालीसा पाठ का सबसे बड़ा लाभ क्या है

मनुष्य जीवन का परम लक्ष्य माना गया है मुक्ति यानी शरीर त्याग के बाद परमधाम में स्थान : हनुमान चालीसा में बताया गया है अंतकाल रघुबार पुर जाई जहां जन्म हरि-भक्त कहाई और देवता चित्त न धरई हनुमत सेइ सर्ब सुख करई यानि जो व्यक्ति हनुमान जी का ध्यान करता है और उनकी पूजा और हनुमान चालीसा का पाठ नियमित करता है उसके परमधाम जाने का मार्ग सरल हो जाता है यानि कि मृत्यु के बाद जब हमारी आत्मा इस शरीर को छोड़ देगी तब हमारी आत्माओं को मोक्ष की प्राप्ति कर प्रभु के परमधाम में स्थान प्राप्त करने के लिए हमें हनुमान चालीसा का पाठ करना एक आसान काम है क्योंकि कलियुग में हनुमानजी सबसे जल्दी मनोकामना को सुनते हैं और हमारी आत्मा को जीवन-मरण के कुचक्र से छुड़ाकर मुक्ति प्रदान कराने वाले हैं.

Leave a Comment